You are currently viewing इंटरनेट क्या है? ,कब आया? | What is Internet in Hindi
Internet kya hai? or kab bharat me kab aaya in hindi ccchindi

इंटरनेट क्या है? ,कब आया? | What is Internet in Hindi

Internet का उपयोग आज पूरी दुनिया करती है, लेकिन क्या आपको पता है की Internet क्या है? जिसे किसी भी कनेक्टेड डिवाइस से एक्सेस किया जा सकता है। यह 1969 में वैज्ञानिकों के बीच जानकारी साझा करने के तरीके के रूप में शुरू हुआ और वर्षों से विकसित हुआ।

इंटरनेट क्या है? (What is Internet)

इंटरनेट क्या है? ,कब आया? | What is Internet in Hindi
ccchindi

वाइड एरिया network (WAN) एक ऐसा नेटवर्क है जो किसी संपूर्ण देश अथवा महाद्वीपों के पार फैला होता है। इसी नेटवर्क को इंटरनेट भी कहा जाता है। हम इसे कंप्यूटरों का वैश्विक नेटवर्क भी कह सकते हैं। इसे एक बड़ा नेटवर्क बनाने के लिए अनेक छोटे नेटवर्क्स को जोड़कर बनाया जाता है।

इंटरनेट सूचना तकनीक की सबसे आधुनिक प्रणाली है। इंटरनेट को आप विभिन्न कंप्यूटर नेटवर्को का एक विश्व स्तरीय समूह (नेटवर्क) कह सकते है। इस नेटवर्क में हजारों और लाखो कंप्यूटर एक दुसरे से जुड़े है। साधारणत: कंप्यूटर को टेलीफोन लाइन द्वारा इंटरनेट से जोड़ा (Connect) जाता है।

लेकिन इसके अतिरिक्त बहुत भी बहुत से साधन है। जिसमे कंप्यूटर इंटरनेट से जुड़ सकता है। इंटरनेट के माध्यम से हम क्या क्या कर सकते है। पुराने समय में हम बहुत सादा जीवन व्यतीत करते थे। एंटरटेनमेंट के नाम पर सिर्फ रेडियो हुआ करते थे।

लेकिन जब से इंटरनेट की तकनीक हमारे बिच में आयी है, तब से हमें किसी भी चीज के लिए बाहर भी नहीं जाना पड़ता है। लेकिन आज Internet की वजह से सभी चीजों को Online कर दिया है। आज आप ज्यादातर चीजों को Online खरीद सकते है।

Internet एक Global Computer Network है, जो की पूरी दुनिया में एक Network जाल के माध्यम से जुड़ा हुआ है। यह मानवकृति संचार प्रोटोकॉल का उपयोग करके दुनिया में कई प्रकार की महत्वपूर्ण जानकारियां और सुविधाएँ प्रदान करता है।

यह लाखो Computers के साथ जुड़ा होता है। इंटरनेट किसी एक कंपनी या सरकार के अधीन नही होता है, अपितु इसमें बहुत से सर्वर (Server) जुड़े हैं, जो अलग अलग संस्‍थाओं या प्रायवेट कंप‍नीयों के होते हैं। इंटरनेट को हम विश्‍वव्‍यापी विज्ञापन का माध्‍यम कह सकते हैं।

किसी उत्पाद के बारे में विश्‍वस्‍तर पर सर्वेक्षण करने के लिए यह सबसे आसान एवं सस्‍ता माध्‍यम हैं। विभिन्‍न जानकारीयॉं जैसे रिपोर्ट, लेख, कम्‍प्‍यूटर आदि को प्रदर्शित करने का बहुत उपयोगी साधन हैं।

इंटरनेट पर मजूद सूचनाओं को प्राप्त करने के लिए WWW (Word Wide Web) का उपयोग किया जाता है, जो की Web Browser में उपयोग किया जाता है। किसी भी तरह के Document को प्रदर्शित करने के लिए हाइपर टेक्स्ट का उपयोग किया जाता है। उम्मीद है, आपको समझ आ गया होगा, की इंटरनेट क्या है।

इन्टरनेट का इतिहास (History of Internet)

1960 के दशक में इंटरनेट नेटवर्क की उत्पत्ति संयुक्त राज्य संघीय सरकार द्वारा कंप्यूटर नेटवर्क के माध्यम से मज़बूत, गलती-सहिष्णु संचार के निर्माण के लिए शुरू की गई थी। 1990 के शुरुआती दिनों में वाणिज्यिक नेटवर्क और उद्यमों को जोड़ने से आधुनिक इंटरनेट पर संक्रमण की शुरुआत हुई,

और तेजी से वृद्धि के कारण संस्थागत, व्यक्तिगत और मोबाइल कंप्यूटर नेटवर्क से जुड़े थे। 2000 के दशक के अंत तक, इसकी सेवाओं और प्रौद्योगिकियों को रोजमर्रा की जिंदगी के लगभग हर पहलू में शामिल किया गया था।

इंटरनेट की खोज किसने की (Who Discovered The Internet)

इंटरनेट की खोज किसने की (Who Discovered The Internet)
ccchindi

इंटरनेट का आविष्कार एक बहुत बड़ी खोज है। इसके Invention में कई Scientists, Engineers and Programmers का हाथ है। तब जाकर आज हम इंटरनेट का उपयोग कर पा रहे है। इंटरनेट की शुरुआत अमेरिका सेना द्वारा पेंटागन में अमेरिकी रक्षा विभाग में की गयी थी।

इसके लिए सन 1957 में अमेरिका ने Advanced Research Projects Agency (ARPA) की स्थापना की थी।31 मई, 1961 को “Information Flow in Large Communication Nets” नामक अपना पहला पेपर प्रकाशित करने के बाद इंटरनेट के शुरुआती विचार का श्रेय लियोनार्ड क्लेरॉक को दिया जाता है।

1962 में, जे.सी.आर. लिक्लिडर IPTO के पहले डायरेक्टर बने और उन्होंने Galactic Network के बारे में अपना दृष्टिकोण दिया। इसके अलावा, लिक्लाइडर और क्लेनक्रॉक (Likelier and Klein rock) के विचारों के साथ, रॉबर्ट टेलर ने नेटवर्क के विचार को बनाने में मदद की जो बाद में ARPANET बन गया।

पहला नेटवर्क डिवाइस (First Network Device)

29 अगस्त, 1969 को पहला नेटवर्क स्विच और “IMP” (इंटरफ़ेस मैसेज प्रोसेसर) नामक नेटवर्क डिवाइस का पहला टुकड़ा UCLA को भेजा गया। 2 सितंबर, 1969 को, पहला डेटा UCLA होस्ट से स्विच में चला गया।

एक ईथरनेट हब, सक्रिय हब, नेटवर्क हब, रिपीटर हब, मल्टीपॉर्ट रिपीटर, या बस हब कई ईथरनेट उपकरणों को एक साथ जोड़ने और उन्हें एकल नेटवर्क खंड के रूप में कार्य करने के लिए एक नेटवर्क हार्डवेयर डिवाइस है।

भारत में इन्टरनेट कब शुरू हुआ था? (When did Internet Start in India?)

भारत में इंटरनेट को आए 22 साल पूरे हो चुके हैं। 15 अगस्त 1995 के दिन भारत में इंटरनेट सर्विस की शुरुआत हुई थी। 15 अगस्त को विदेश संचार निगम लिमिटेड (VSNL) ने भारत में आम जनता के लिए आधिकारिक तौर इंटरनेट को लॉन्च किया था। तभी से वर्ल्ड वाइड वेब हमारी जिंदगी का एक हिस्सा बन गया। आज के समय में इंटरनेट शिक्षा के लिए कोडिंग, शॉपिंग, बैंकिग पयार्य है।

इंटरनेट के सफर पर ध्यान दें तो बड़ी मशीनों से लेकर साइबर कैफे तक भारत में इंटरनेट की यात्रा दिलचस्प रही है। अब, 22 वर्षों के बाद, जहां एक तरफ भारत में इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर यूजर्स को मुफ्त डाटा की सुविधा दे रहें है, वहीं दूसरी ओर हमारे पास भविष्य की वर्चुअल रियलिटी और आग्मेन्टड रियलिटी मौजूद है।

इंटरनेट का फुल फॉर्म क्या है? (What is The Full Form of Internet?)

Internet का फुल फॉर्म ‘Interconnected Network‘ होता हैं। इंटरनेट का फुल फॉर्म हिन्दी में “इंटरकनेक्टेड नेटवर्क” होता हैं। लेकिन गूगल पर आपको इंटरनेट के बहुत से फुल फॉर्म देखने को मिलेंगे जैसे – International Network या Inter-Networking । लेकिन इंटरनेट की फुल फॉर्म ‘इंटरकनेक्टेड नेटवर्क’ ही हैं।

इंटरनेट कैसे चलाई जाती है? (How is The Internet Transmitted?)

इंटरनेट कैसे चलाई जाती है? (How is The Internet Transmitted?)
ccchindi

Smartphones जैसे की iPhones और Android phones, बहुत ही छोटे Handheld Computers होते हैं जिसमें की Built-in GPS और Camera की सुविधा रहती है। वहीँ बहुत से लोगों के लिए उनका Smartphone ही Tool होता है Internet access करने के लिए।

यदि आप अपने Computer या PC में Internet चलाना चाहते हैं तब आपको इसके लिए या तो Broadband Connection लेना होगा किसी ISP से या उनका कोई Wireless Connection भी ले सकते हैं। इसका इस्तमाल कर आप अपने Computer में Internet Access कर सकते हैं।

इंटरनेट के लाभ (Benefits of Internet)

  1. इसको ज्यादा तोर पर Social Networking, Education, मनोरजन, Online जानकारी देने में ज्यदा मददगार होता है।
  2. इसे आपकी Time की बचत तो होगी और आप चाहो तो बोहत कुछ सिख सकते हो।
  3. अगर पढाई की बात की जाये आजकल हर कोई ऑनलाइन पढाई कर सकता है और Internet कर सकता है।
  4. और सबसे अच्छा फायदा- Online Services जैसे Online Shopping, Online Recharge, Movie Ticket Boking, Internet Banking, Online Transaction ये सब Internet की वजह से ही हो पाया है।
  5. इसकी वजह से ही आजकल E-Commerce साईट बोहत ही तेजी से आगे बढ़ रही हैं।
  6. मनोरंजन के लिए भी आपको इसकी की सक्त जरुरत है। जिससे आप गाने डाउनलोड कर सकते हो, Video देख सकते हो, दुःख को दूर करने के लिए Online game खेल सकते हो।
  7. सबसे बड़ा फायदा यह है की आपको सारे सवालों के जवाब मिल जायंगे जैसे अभी आपको ये भी मिल जाये गा Internet क्या है।
  8. आपको हर पल की खबर आपको मिलती रहेंगी जब चाहो तब, इसके साथ Science,Technolgy,की भी जानकारी मिलती रहेगी Internet में।
  9. इसमें में आप Information Share कर सकते हैं, E-Mail जैसे सुविधा आपको Internet की वजह से हो पाया है।
  10. आप अपना सारा डाटा स्टोर करके रख सकते हो इसमें और जब चाहो तब वापस डाउनलोड कर सकते हो।

इंटरनेट की हानि (Internet Loss)

  1. इसका का नुकसान इसकी लत है, अगर आपको लग गई तो अप इसके पीछे लगे रहो गे और होगा क्या इससे आपका वक्त बर्बाद होगा।
  2. इसके जरिये आपका सारा Data आपके Computer से कोई भी चुरा सकता है Hackers के जरिये।
  3. बोहत सारे प्रोनोग्र्फी साईट Net में होती हैं जिसमे अश्लील तस्वीर और Video रहते है और इनसे बचों के दिमाग पर बोहत ही बुरा असर पड़ता है।
  4. Internet पे कुछ ऐसे वेबसाइट होती हैं जिनमे लोग आपको कुछ सवाल पूछ कर सारी जानकारी ले लेते हैं और उसका वो गलत फ़ायदा उठाते है।
  5. कभी कभी कोई भी गलत Video (mms) बड़ी तेजी से नेट में फ़ैल जाता है ये भी एक नुकसान है।
  6. इसमें में जो Social साईट जैसे Facebook, Instagram रहती है उनमे कुछ लोग किसी की भी तस्वीर छोड़ देते हैं ये भी Internet का नुकसान हैं
  7. इसमें कोई भी कुछ भी लिख के share कर देता है चाहे वो सही हो या गलत, इससे गलत Information लोगों तक पहच ती है|
  8. Internet के इस्तेमाल से जैसे आपका वक्त बचाता है वैसे ही आपका वक्त भी बर्बाद करता है।

आज आपने क्या सीखा? (What did You Learn Today?)

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Internet क्या है जरुर पसंद आई होगी। मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की पढने वाले को इंटरनेट की परिभाषा के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे Sites या Internet में उस Article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है।

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी Information भी मिल जायेंगे। यदि आपके मन में इस Article को लेकर कोई भी Doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच Comments लिख सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

 इनपुट डिवाइस क्या है?

Adding Printers in Hindi | प्रिंटर जोड़ना साझा करना

विंडोज़ ऑपरेटिंग का इतिहास – Microsoft Windows OS History in Hindi

WEBSITE FOOTPRINTING: सब जानने की आवश्यक है

This Post Has 6 Comments

  1. Shubham M@ury@

    This article is good.

Leave a Reply